दोस्तों आज के युग में मोबाइल अत्यंत उपयुक्त साधन बन चुका है। आज हर छोटा बड़ा काम स्मार्टफोन से चुटकियों मै किया का सकता है। लेकिन क्या हो अगर मोबाइल बंद पड़ जाए तो, या फिर यदि मोबाइल न होते तो? yadi mobile na hota तो कई सारे काम करना कठिन हो जाता। पर मोबाइल न होने के कई लाभ भी हमे देखने को मिल जाते।


आज के इस लेख मै yadi mobile na hota to essay in hindi इस विषय पर हिंदी निबंध दिया गया है तो चलिए शुरू करते है....


yadi mobile na hota to nibandh

यदि मोबाइल न होता तो | yadi mobile na hota to

आज आधुनिक और कंप्यूटर का दौर शुरू है। यह आधुनिक युग मोबाइल के सिवा अधूरा है। मनुष्य द्वारा लगाए गए अनुसंधानों मै से मोबाइल एक महत्वपूर्ण साधन है। आजकल लोगों के दिन की शुरुआत मोबाइल से होती है। व्यापार, रिश्तेदार और दोस्तों से संपर्क करने के लिए मोबाइल का ही प्रयोग किया जाता है। युवाओं में तो मोबाइल का चलन दिन-ब-दिन बढ़ता ही जा रहा है। पर क्या आपने कभी सोचा है कि यदि मोबाइल न होते तो...?


आज अगर मोबाइल ना होता तो यह युग आधुनिक युग नहीं कहलाता, क्यूंकि आज के युग को आधुनिक युग में परिवर्तित करने में मोबाइल की भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण है। विकास के इस दौर में सभी चीजें डिजिटल हो रही है। अगर मोबाइल न होता तो डिजिटल क्रांति सिर्फ एक सपना ही रहती। क्यूंकि आज मोबाइल के बदौलत ही ऑनलाइन पैसों का लेनदेन हो पा रहा है। यदि मोबाइल ना होता तो रिश्तेदार, दोस्त तथा व्यवसाई लोगों से घर बैठे संपर्क करना असंभव होता। 


आजकल हर चीज स्मार्टफोन मैं उपलब्ध है। दुनिया भर की जानकारी घर बैठे मोबाइल से प्राप्त की जा सकती है। किंतु अगर मोबाइल ना होता तो दुनिया भर में क्या चल रहा है यह पता नहीं चलता। ऑनलाइन शॉपिंग का व्यापार आजकल काफी बढ़ रहा है। मोबाइल की सहायता से ही ऑनलाइन खरीदारी की जाती है। लेकिन मोबाइल अगर ना होते तो हर छोटी बड़ी चीज को लेने के लिए हमें घर से बाहर निकलना पड़ता। जिन लोगों को रास्ता पता नहीं होता वे मोबाइल में मौजूद गूगल मैप से रास्ता पता करते हैं और एक जगह से दूसरी जगह पहुंचते हैं। लेकिन यदि मोबाइल न होता तो लोगों को रास्ता पता करने के लिए बार-बार दूसरों को पूछना पड़ता। 


जिस तरह मोबाइल ना होने के नकारात्मक प्रभाव है ठीक उसी तरह इसके कुछ सकारात्मक पहलू भी देखे जा सकते हैं। आजकल मोबाइल के ज्यादा इस्तेमाल से लोगों को इसकी आदत पड़ गई है। ज्यादा देर मोबाइल मैं गेम खेलना, इंटरनेट का इस्तेमाल करना इससे आंखों की समस्या निर्माण होती है। मोबाइल के ज्यादा इस्तेमाल से आज सिरदर्द, आंखों में जलन जैसी समस्याएं युवाओं में निर्माण हो रही है। यदि मोबाइल न होता तो यह सारी समस्याएं नहीं होती, लोग अपने मोबाइल में देखने के बजाय एक दूसरे से बातचीत में समय बिताते। जिससे उनके आपसी संबंध और भी अच्छे बनते। 


आजकल मोबाइल के उपयोग से कुछ लोग हैकिंग भी करते हैं। हैकिंग में किसी भी यूजर का डाटा चोरी कर उसका गलत उपयोग किया जाता है। अगर मोबाइल ना होते तो ऑनलाइन हैकिंग भी ना होती। आजकल मोबाइल की मदद से ब्लैकमेलिंग की घटनाएं भी बढ़ रही हैं। वैज्ञानिकों के अनुसार मोबाइल से निकलने वाले रेडिएशन इंसानों के लिए खतरनाक तो होता ही है लेकिन इन रेडिएशन के कारण हर साल हजारों पंछी मर जाते हैं। अगर मोबाइल में होता तो इत्यादि समस्याएं कभी निर्माण ना होती।


आखिर मैं इतना ही कहा जा सकता है कि मोबाइल इस्तेमाल करने की जैसे फायदे हैं वैसे ही उसके नुकसान भी है। इसलिए मोबाइल का उपयोग सुबुद्धि से अच्छे काम के लिए करना चाहिए। 

--End--

4 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने